• बिजनेस राइटिंग स्किल्स उपयोगी संदर्भ
  • चर्चा

बिज़्नेस केस लेखन(व्यावसायिक प्रस्ताव लेखन)


Advertisements

किसी व्यावसायिक प्रस्ताव का मकसद संगठन की जरूरतों का पता लगाकर उनकी पूर्ति के लिये रणनीति बनाना होता है। इसका इस्तेमाल इष्टतम सफलता पाने के परिणामों का मूल्यांकन करने के लिए भी किया जाता है। बिज़्नेस केस ऐसा डॉक्यूमेन्ट होता है जो फैसला लेने वाले को राजी करने के लिये लिखा जाता है ताकि वो(फैसला लेने वाला) उस प्रोपोजल में दिये गये प्रस्ताव को स्वीकृति दे।

व्यावसायिक प्रस्ताव का प्रारूप

आम तौर पर एक व्यावसायिक प्रस्ताव में निम्नलिखित चीज़ें होती हैं। −

  • बिज़्नेस केस का टाइटल − प्रस्ताव का विषय

  • सारांश विवरण − प्रस्ताव का विवरण

  • वर्तमान प्रक्रिया − वर्तमान में जारी प्रक्रियाएं

  • बदलाव का कारण − बदलाव से किस प्रकार के लाभ होंगे

  • जोखिम − ऐसे फैक्टर्स(कारक) जिससे कंपनी को सतर्क रहने की जरूरत है।

व्यावसायिक प्रस्ताव लेखन
  • विकल्प − कोई भी वैकल्पिक प्रक्रिया जिसको कार्यान्वित किया जा सकता है।

  • विकल्पों की तुलना − जोखिम और फायदे से जुड़े सभी विकल्पों का आंकलन

  • रेकमेन्डेशन(अनुरोध) − परिवर्तन के बाद लागू करने के लिए अंतिम विकल्प

  • कार्रवाई − परिवर्तनों को लागू करने के लिए जरूरी कदम

  • स्वीकृति का अनुरोध − किस कार्रवाई के लिए किसकी अनुमति की जरूरत है।

उदाहरण - व्यावसायिक प्रस्ताव लेखन

लेटर हेड

'हस्ता ला विस्टा' द्वारा इन्टीरीअर डिकॉर पर प्रतिक्रिया

इग्ज़ेक्यूटिव समरी(कार्यकारी सारांश):

हमने अपने ऑफिस का इन्टीरीअर रेनवैट करने का काम हैदराबाद में स्थित इन्टीरीअर डिकॉर की एक प्रतिष्ठित कंपनी- 'हस्ता ला विस्टा' को सौंपा है।

वर्तमान प्रक्रिया

हम फिलहाल 'हस्ता ला विस्टा' को उनके 350 घंटे के इंटीरियर डीकोर बिजनेस के लिए 22,000 रुपये प्रति घंटा मेहनताना दे रहे हैं। इसमें ऑफिस परिसर के डेकॉरेशन और रिडिज़ाइन करने में पांच घंटे का वक्त लगता है। सप्ताह के सातों दिन सुबह 11:00 से लेकर शाम 4:00 बजे के बीच तक यानि पांच घंटे तक काम करने का समय तय है।

बदलाव की वजह:

ग्राहक की जरूरतों को खयाल में रखकर काम को अंजाम नहीं दिया गया। बहुत ही ज्यादा डीकोर मटेरियल का सिर्फ इस्तेमाल ही नहीं किया गया बल्कि इसकी बरबादी भी हुई।

जोखिम − नई डीकोर डिजाइनर पूरे रिनॉवेशन को हटाकर फिर से पुरानी डिजाइन प्रदान कर सकती है।

विकल्प − नई डीकोर कंपनी से पुरानी टेम्पलेट की डिजाइन बरकरार रखने और एक नए डिजाइन को लागू न करने को कहें।

विकल्प की तुलना − नई कंपनी के उत्साह में कमी की वजह से प्रोडक्टिविटी में गिरावट आ सकती है लेकिन प्रतिमाह दिये जाने वाले निर्धारित मासिक शुल्क और रोज़ाना ज्यादा घंटों तक काम करने से प्रोडक्टिविटी में आई कमी को संतुलित किया जा सकता है।

रेकमेन्डेशन − 'हस्ता ला विस्टा' के साथ कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दें और 'राइज़ डीकोर' से संपर्क करें।

कार्रवाई − 'राइज़ डीकोर' के प्रतिनिधियों को बुलायें और उन्हें परिसर का मुआइना करने और मूल्यांकन के साथ एक फाइनल रिपोर्ट जमा करने को कहें।

स्वीकृति के लिये अनुरोध:

  • 'राइज़ डीकोर' से बात करने के लिए- एचआर(एडमिन) की स्वीकृति जरूरी है।
  • 'राइज़ डीकोर' के प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग के लिए- एमडी की अनुमति जरूरी है।
  • रेनवैशन हेतु कोटेशन फाइनलाइज करने के लिये- एचआर(अकाउंट्स) की स्वीकृति जरूरी है।
Advertisements