माइक्रोमैनेजिंग के नुकसान


एक अच्छे प्रबंधक को हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि टीम में अपने जैसे ही लोगों को रखना कभी भी अच्छा विचार नहीं माना जाता है जब तक प्रदर्शन को प्रभावित करने वाले वास्तविक मुद्दे न हों। जिस तरह से टीम के सदस्य चीजों को संभालते हैं, उसमें प्रबंधक को कुछ असमानताओं को स्वीकृति देनी होगी और माइक्रोमैनेजिंग से बचना होगा।

विभिन्न शोधकर्ताओं का यह कहना है कि कर्मचारियों का कंपनी छोड़ने के पीछे सबसे महत्वपूर्ण कारण प्रत्यक्ष रुप से उनका अपने मालिकों के साथ खराब संबंध होता है। जबकि प्रबंधक के साथ एक बुरा संबंध होना जरूरी नहीं है कि यह हमेशा माइक्रोमैनेजिंग का परिणाम हो, यह पहले से ही कमजोर या तनावपूर्ण संबंध में खराब भावना पैदा कर सकता है।

माइक्रो प्रबंधन

एक मैनेजर माइक्रोमैनेजर न बनें इसे सुनिश्चित करने का सबसे प्रभावशाली तरीका है कि वह सख्त प्रबंधकीय नैतिकताओं का पालन करे और एक बेहतर प्रबंधक बनने के लिए अटल रहे। अगर कोई व्यक्ति एक माइक्रोमैनेजर के अंतर्गत काम रहा है तो बुद्धिमानी यही होगी कि, वह अनावश्यक प्रतिक्रिया न करे और माइक्रोमैनेजर को अपना गुस्सा न दिखाए।

माइक्रोमैनेजर हठी व्यवहार करते हैं क्योंकि समस्याएं कार्यस्थल से संबंधित नहीं होती है। उनकी यह व्यवहार शैली उनके व्यावसायिक जीवन की तुलना से अधिक उनके व्यक्तिगत जीवन के संकटों से संबंधित हो सकती है। लोगों को यह पता होना चाहिए कि, माइक्रोमनेजर के साथ काम करने पर बहस सावधानीपूर्वक करनी चाहिए; हर बात पर झगड़ा करना सही नहीं है।

Advertisements